May 24, 2024
Ravan Ke Pita Ka Naam

रावण के पिता का नाम क्या था ? – Ravan Ke Pita Ka Naam

Ravan Ke Pita Ka Naam :- श्री राम के परम शत्रु रावण का नाम आपने जरूर सुना होगा, इनके 10 सिर होने की वजह से इन्हें दशानन के नाम से भी जानते हैं। रावण में अनेक सारे गुण विद्यमान थे।

रावण एक महा पराक्रमी योद्धा, राजनीतिज्ञ, अत्यंत बलशाली होने के साथ ही भगवान शिव का परम भक्त था। लेकिन अनेक व्यक्ति नहीं जानते है, कि रावण के पिता का नाम क्या था ?

इसलिए आज के इस लेख में हम रावण के पिता को नाम क्या था इसके बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे और साथ ही साथ उनसे जुड़ी हुई कुछ अन्य जानकारी भी जानेंगे।


रावण के पिता का नाम क्या था ? – Ravan Ke Pita Ka Naam

रावण के पिताजी का नाम विश्रवा था। विश्रवा जी की दो पत्नियां थी, एक का नाम वरवर्णिनी तथा दूसरी पत्नी का नाम कैकसी था। रावण को जन्म देने वाली माता कैकसी थी, वही कुंभकरण को जन्म देने वाली माता वरवर्णिनी थी।


रावण कौन था ?

रामायण में आपने रावण का नाम जरूर सुना होगा रावण जोकि एक शक्तिशाली योद्धा था तथा श्रीलंका का राजा था। जिसमें अनेक गुण व्याप्त थे, जैसे कि अत्यंत बलशाली, राजनीतिज्ञ, महाज्ञानी और पंडित, महाप्रतापी इसके अतिरिक्त भी अनेक सारे गुण रावण के अंदर विद्यमान थे।

रावण जिसमें सीता जी का हरण किया था, तथा सीता जी को अशोक वाटिका के स्थान पर रखा था, जिसके पश्चात एक महायुद्ध हुआ था। आपको पता होगा कि रावण लंका का अधिपति था और रावण की लंका आज श्रीलंका में स्थित है।


रावण के पिता ऋषि विश्रवा के बारे में जानकारी

रावण के पिता ऋषि विश्रवा जी के पिता का नाम ऋषि पुलस्त्य था यह एक महान ऋषि थे तथा वही विश्रवा जी की माता जी का नाम हानि भुरवा था, विश्रवा जी का जन्म ब्रह्मा जी के कुल में होने की वजह से उनका मन वेदों और धार्मिक ग्रंथों में हमेशा रहा था।

ऋषि विश्रवा जी ने अपने ज्ञान से ऋषि मुनियों के कुल में एक बहुत बड़ा स्थान प्राप्त किया था। प्राचीन समय की अगर बात की जाए तो उसमें ऋषि विश्रवा जी का नाम जरूर सुनने को मिलता है।


रावण के परिवार में कौनकौन था ?

कहा जाता है, कि रावण के 6 भाई थे जिनका नाम विभीषण, कुबेर, कुंभकरण, दूषण, अहिरावण और खर तथा वही रावण की दो बहने थी एक का नाम कुम्भिनी और दूसरे का नाम सूर्पनखा था। ‌ तथा कुबेर और अहिरावण रावण के सगे भाई नहीं थे।

अब अगर रावण की पत्नियों की बात की जाए, तो जानकारी के अनुसार रावण की दो पत्नियां थी लेकिन कहीं-कहीं तीन पत्नियों का वर्णन भी मिलता है, लेकिन तीसरी पत्नी का नाम अज्ञात है, अब पहली पत्नी का नाम मंदोदरी था दूसरी पत्नी का नाम धन्य मालिनी था।

मंदोदरी से रावण के पुत्रों के नाम कुछ इस प्रकार है मेघनाथ, अक्षय कुमार, परहस्त्र, महोदर हैं, तथा वही रावण की दूसरी पत्नी धन्य मालिनी से रावण के 2 पुत्र थे एक का नाम त्रिशिरार तथा दूसरे का नाम अतिक्या था, अब तीसरी पत्नी से रावण के 3 पुत्र थे जिनका नाम देवताका, नरांतका और प्रहस्ता था।


रावण का बचपन कैसे बीता ?

रावण के बचपन की अगर बात की जाए तो रावण ने अपने बचपन में शिक्षा और विद्याए हासिल की। बचपन में ही उसने चारों वेदों को कंठस्थ याद कर लिया तथा तंत्र विद्या आयुर्वेद आदि में रावण को काफी ज्यादा ज्ञान हो चुका था।

अब जैसे-जैसे रावण का समय बीतता चला गया उसके बाद युवा अवस्था में रावण ने तपस्या करनी शुरू कर दी रावण चाहता था कि में ब्रह्मा जी से अजर अमर होने का वरदान मांग लूंगा लेकिन अमर होने का वरदान तो नहीं लेकिन उन्हें कुछ शक्तियां प्रदान कर दी गई। जिसके बाद वह कठोर तपस्या भगवान शिव जी को प्रसन्न करने के लिए करने लग गए।


रावण का पूरा नाम क्या था ?

रावण का पुरा वास्तविक नाम दशगिवरी था, तथा वही रावण के 10 सिर होने की वजह से इन्हें दशानन के नाम से भी जाना जाता है।


रावण के नाना का नाम क्या था ?

रावण के नाना का नाम सुमाली और नानी का नाम ताड़का था।


रावण का गांव कौनसा था ?

बिसरख गांव को रावण का गांव कहा जाता है, क्योंकि यहीं पर रावण का जन्म हुआ था। यह गांव उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध में ग्रेटर नोएडा से तकरीबन 15 किलोमीटर दूर है। जानकारी के मुताबिक पता चला है, कि रावण के पिता जी बिसरख गांव में रहते थे। तथा वहीं पर रावण का जन्म हुआ था।

जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि पूरे भारत में रावण का दहन होता है, तथा रामलीला होती है, लेकिन यह ऐसा गांव है, इसमें ना तो रावण का दहन होता है, और ना ही रामलीला होती है, क्योंकि रावण के गांव के लोग रावण को अपना बेटा समझते हैं।


मृत्यु के समय रावण की उम्र कितनी थी ?

रावण की सही उम्र का पता लगाना काफी मुश्किल है क्योंकि हम जो गणना करते हैं वह आधुनिक युग के हिसाब से गणना करते हैं और उस समय की गणना अलग तरीके से की जाती थी इस वजह से रावण की उम्र का पता लगाना थोड़ा कठिन हो जाता है।

लेकिन कहा जाता है, कि मृत्यु के समय रावण की उम्र 40000 वर्ष के करीब थी।


FAQ’S :- 

Q.1 रावण के पिता का नाम क्या था ?

Ans- विश्रवा जी।

Q.2 रावण की मां कौन सी जात की थी ?

Ans- रावण की मां कैकसी क्षत्रीय राक्षस कुल की थीं।

Q.3 रावण पहले कौन था ?

Ans- रावण पूर्व जन्म में हिरण्यकशिपु था।

Q.4 रावण की बेटी का नाम क्या था ?

Ans- रावण की बेटी का नाम सुवर्णमछा या सुवर्णमत्‍स्‍य था।

Q.5 रावण के दादा का नाम क्या था ?

Ans- पुलस्त्य ऋषि।

निष्कर्ष :- 

आज इस लेख में हमने जाना है, कि रावण के पिता का नाम क्या था, उम्मीद है, कि इस लेख के माध्यम से रावण के पिता का नाम तथा रावण से जुड़ी समस्त जानकारियां आपको मिल पाई होगी।

यदि आप इस प्रकार के किसी भी विषय पर जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं। जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।


Also Read :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *