May 18, 2024
Duniya ki sabse badi jheel

दुनिया की सबसे बड़ी झील कौन सी है ? – Duniya ki sabse badi jheel

Duniya ki sabse badi jheel :- दुनिया में बहुत सी आकर्षक चीज़े विद्यमान है उन्ही में से झील काफी ज्यादा आकर्षक है। आपने बहुत सारी प्राकृतिक और कृत्रिम झीलों के बारे में सुना होगा। पर क्या आप जानते हैं कि duniya ki sabse badi jheel कौन सी है।

यदि आप नही जानते हैं, तो आप आज इस लेख के माध्यम से यह रोचक जानकारी प्राप्त करेंगे कि duniya ki sabse badi jheel कौन सी है।


दुनिया की सबसे बड़ी झील कौन सी है ? – Duniya ki sabse badi jheel

दुनिया की सबसे बड़ी झील कैस्पियन सागर है। यह एशिया के साथ साथ विश्व की भी सबसे बड़ी झील है।

आप इसका नाम पढ़कर जरूर कंफ्यूज हो रहे होंगे, परंतु यहां एक झील है। कैस्पियन सागर में सागर और झील दोनों की विशेषता है। दुनिया की सबसे बड़ी झील में कैस्पियन सागर का नंबर सबसे पहले आता है।

कुछ स्टडी से यह पता चला है कि 11 मिलीयन वर्ष पहले कैस्पियन सागर मेडिटेरियन सी, सी ऑफ आजोव और ब्लैक सी से जुड़ी हुई थी। इसी वजह से कैस्पियन सागर दुनिया की सबसे बड़ी झील की लिस्ट में एकमात्र खारे पानी की झील है।


कैस्पियन सागर झील का विस्तार

  • कैस्पियन सागर झील की गहराई लगभग 4 फीट अर्थात 184 मीटर है।
  • इसके अंदर 78200 घन किलोमीटर पानी आता है।
  • इस झील का क्षेत्रफल लगभग तीन लाख 71 हजार किलोमीटर है।
  • इसकी लंबाई 12 किलोमीटर है और इसकी चौड़ाई 480 किलोमीटर है।

कैस्पियन सागर की स्थिति

  • इस झील का किनारा कई देशों के साथ लगता है और यह एशिया के मध्य भाग में स्थित है।
  • इस झील के उत्तर पूर्व में कजाकिस्तान देश स्थित है और रूस देश की सीमा इस झील के उत्तर पश्चिम दिशा के साथ लगती है।
  • इस झील के दक्षिण दिशा में ईरान स्थित है तथा दक्षिण-पूर्व दिशा में तुर्कमेनिस्तान नामक देश लगता है।
  • कैस्पियन सागर झील के पश्चिम दिशा में अज़रबैजान देश की सीमा लगती है।
  • कैस्पियन सागर झील 5 देशों के साथ अपने border को साझा करती है।
  • यह झील 5 राज्यों के अंतर्गत आती है। उत्तर पश्चिम और पश्चिम से इसके तट की लंबाई 695 किलोमीटर है जो कि रूस का क्षेत्र है।
  • पूर्व और उत्तर पूर्व में कजाकिस्तान के अंतर्गत सबसे लंबी तट रेखा का अधिकांश भाग आता है जो कि 2320 किलोमीटर लंबा है।
  • इस झील के दक्षिण में 724 किलोमीटर लंबा समुद्री तट, दक्षिण पूर्वी हिस्से में 12 किलोमीटर लंबा और अजरबेजान के पास दक्षिण-पश्चिम हिस्से में लगभग 955 किलोमीटर लंबा समुद्री तट है।

कैस्पियन सागर का इतिहास

  • यह एक प्राचीन झील है।
  • कैस्पियन झील का नाम यहां पर निवास करने वाली कास्पी जनजाति के नाम के आधार पर पड़ा है।
  • इस झील को एक अन्य नाम दरिया ए मांजदरान से भी जाना जाता है। यह नाम इसे इरान देश ने दिया है।
  • यदि पूरी दुनिया भर के सभी जिलों का पानी इकट्ठा करके इसमें डाला जाए तो इस झील में लगभग 40 से 45% पानी आ जाएगा।

कैस्पियन सागर की जलवायु

  • कैस्पियन सागर झील की जलवायु बहुत अधिक विषम है। यहां पर हर मौसम में अलग-अलग प्रभाव देखने को मिलता है।
  • गर्मियों के दिनों में इस झील का पानी गर्म हो जाने के कारण भाप बनकर उड़ जाता है।
  • कैस्पियन सागर झील उत्तरी गोलार्ध में स्थित है और इसी वजह से इस सागर का पानी सर्दियों के दिनों में जम जाता है।

झील मे पानी की आवक

  • इस झील में पानी कई नदियों द्वारा लाया जाता है।
  • इस झील को पानी मुख्य रूप से वोल्गा नदी, यूराल नदी, तेरिक नदी और कुरा नदी से मिलता है।
  • इसमें नदियों का पानी आ तो जाता है परंतु इस झील से पानी बाहर निकलने का अर्थात निकासी का कोई रास्ता नहीं है।
  • यहां पानी केवल भाप बनकर ही कम होता है।
  • कैस्पियन सागर झील के पानी का स्तर उस समय बढ़ जाता है जब नदियों का बहाव तेज रहता है।

 कैस्पियन सागर में पाए जाने वाले जीव जंतु

  • इस झील मे जीव जंतुओं की बहुत सारी प्रजातियां पाई जाती है। यहां पर मछलियां और पक्षी बहुतायत में पाए जाते हैं।
  • यहां पर 1800 से अधिक प्रजातियां मौजूद है। इनमें से 101 प्रजातियां मछली की है और 415 प्रजातियां कशेरुकी की है।
  • कैस्पियन सागर स्ट्र्जन का विश्व भंडार है।
  • यह झील स्तनधारी सिलो में से एक सील का निवास स्थान भी है।

सागर झील के समक्ष चुनौतियां

  • विश्व में बढ़ते हुए तापमान के कारण कैस्पियन सागर पर गहरा प्रभाव पड़ रहा है।
  • इस झील में विश्व के लगभग 90% स्ट्रजन स्टॉक है, परंतु वर्तमान समय में ऐसे बहुत से शिकारी है जो महंगे कैवियार के लिए स्ट्रजन का शिकार करते हैं।
  • इसके नजदीक में लगी पेट्रोकेमिकल की कंपनी के कारण भी इसे क्षति का सामना करना पड़ रहा है। इससे झील के पक्षियों की प्रजातियों की संख्या में कमी आई है।
  • झील के नीचे मौजूद गैस और तेल पाइपलाइन पर्यावरण के लिए संभावित खतरे को बढ़ा देती है।
  • इस झील में परिवहन गतिविधि की भयावहता और जीवाश्म ईंधन निष्कर्षण भी पर्यावरण के लिए जोखिम है।

निष्कर्ष :-

दोस्तों, आज इस लेख के माध्यम से हमने duniya ki sabse badi jheel के बारे में जाना है। हमें उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। आप इसी प्रकार की जानकारी के लिए हमारे इस पेज के साथ जुड़े रहे।

यदि इस लेख से जुड़ा हुआ कोई भी प्रश्न आप हमसे पूछना चाहते है या फिर कोई सुझाव देना चाहते हैं या फिर किसी प्रकार के अन्य विषय पर जानकारी चाहते हैं तो हमें comment box में लिखकर जरूर बताएं।


FAQ’S:-

Q1. विश्व में सबसे बड़ी झील कौन सी है ?

Ans. विश्व में सबसे बड़ी झील कैस्पियन सागर है।

Q2. विश्व की सबसे प्रसिद्ध झील कौन सी है ?

Ans. विश्व की सबसे प्रसिद्ध झील कैस्पियन सागर है।

Q3. कैस्पियन सागर की सीमा कितने देशों के साथ लगती है ?

Ans. इस की सीमा 5 देशों के साथ लगती है और यह ईरान, रूस, कजाकिस्तान, अजरबेजान और तुर्कमेनिस्तान है।

Also Read :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *