April 17, 2024
Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai

पागल दिवस कब मनाया जाता है ? – Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai

Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai :- भारत में लोग पागल दिवस मनाते आ रहे हैं। इस दिन लगभग सभी लोग एक दूसरे को मूर्ख बनाते हैं, इसीलिए इसे पागल दिवस कहा जाता है। एक ही दिन लगभग पूरे दुनिया में मनाया जाता है। लेकिन पूरी दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो नहीं जानते, कि Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai ?

इसीलिए आज का यह लेख उन्हीं लोगों के लिए लेकर आए हैं, जो यह जानना चाहते हैं, कि Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai ? साथ ही हम यहां पर पागल दिवस मनाने का कारण भी जानेंगे और इसके पीछे का इतिहास भी जानेंगे। तो आइए बिना देरी किए लेख को शुरू करते हैं।


पागल दिवस कब मनाया जाता है ? – Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai 

पागल दिवस पूरी दुनिया में 1 अप्रैल को मनाया जाता है। सभी लोग इस दिन अपने दोस्तों को उल्लू बनाने का प्रयास करते हैं। और उनमें से कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो मूर्ख बनने से बचते हैं। यह पागल दिवस 1 अप्रैल को मनाया जाता है इसीलिए इसे अप्रैल फूल डे भी कहा जाता है।

कई लोग जो यह भूल जाते हैं कि आज 1 अप्रैल है तो उन्हें लोग ज्यादा आसानी से मूर्ख बना देते हैं। और कई लोग जिन्हें याद होता है कि आज अप्रैल फूल है तो वे मूर्ख बनने से बचते है।


पागल दिवस क्या होता है ?

पागल दिवस को हम इंग्लिश में अप्रैल फूल डे कहते हैं। जी हां दोस्तों अक्सर लोग या तो जानते हैं कि अप्रैल फूल डे किस दिन मनाया जाता है लेकिन लोग इसके हिंदी अर्थ से कंफ्यूज हो जाते हैं। अप्रैल फूल डे को हिंदी में पागल दिवस और मूर्ख दिवस भी कहा जाता है।

कई जगहों पर इसे ऑल फुल डे के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन लोग एक दूसरे को मूर्ख बनाते हैं। सभी लोग इस दिल अपने दोस्तों रिश्तेदारों पड़ोसियों शिक्षकों इत्यादि लोगों को मूर्ख बनाते हैं। पूर्ण हरकतें करते हैं जिसके कारण लोग पागल बन जाते हैं। फिर बाद में लोग इसका काफी आनंद भी उठाते हैं।


अप्रैल फूल डे का इतिहास ( History of April Fool day )

ऊपर हमने Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai के बारे में जाना, अब हम अप्रैल फूल डे का इतिहास ( History of April Fool day ) के बारे में जानते है।

हम हम पागल दिवस का इतिहास भी जान लेते हैं। या पागल दिवस पूरी दुनिया में 19वीं शताब्दी से लोग मनाते आ रहे हैं। अप्रैल फूल के दिन कोई छुट्टी नहीं होती लेकिन फिर भी इस दिन लोग एक दूसरे के साथ काफी मस्ती करते हैं।

अप्रैल फूल डे मनाने के पीछे कई कारणों को देखा गया है। विदेश से ही पूरी दुनिया में फैला है। एक लेखक सौसर की कैंटरबरी टेल्स के पास एक कहानियों का संग्रह था जिसमें से एक कहानी की पृष्ठ की कहानी थी। इसमें लेखक ने मार्च की 32 दिन की बात कही थी लेकिन लोगों ने इसे गलत समझा और यह मान लिया कि लेखक 1 अप्रैल की बात कर रहा है।

लेखक ने यह लिखा था कि मार्च के 32 दिन के बाद एक मुर्गी ने चालाक लोमड़ी को बेवकूफ बनाया था जो कि लोगों द्वारा यह समझा जाता है कि 1 अप्रैल को मुर्गे ने लोमड़ी को बेवकूफ बनाया था।

इसके अलावा इससे संबंधित दूसरी कहानी यह है कि एक फ्लैमिश कवि ने 1539 में एक ऑफिसर के बारे में लिखा था जिसने अपने नौकरों को 1 अप्रैल के दिन ही कोई मूर्खतापूर्ण कार्य करने को भेजा था। और फ्लैमिश ने इस दिन को मूर्खतापूर्ण दिन कहा था।

इससे संबंधित तीसरी कहानी भी यह प्रचलित है कि पहले के समय न्यू ईयर 25 मार्च को मनाया जाता था। और इस न्यू ईयर के समय पूरे 5 दिन की छुट्टी होती थी जो कि 1 अप्रैल को खत्म होती थी। परंतु बाद में एक नया कैलेंडर लाया गया जिसके अनुसार 1 जनवरी को न्यू ईयर मनाने जाने लगा।

परंतु होने में कुछ लोग ऐसे भी थे जो अभी भी 25 मार्च से लेकर 1 अप्रैल तक न्यू ईयर मनाते थे। और उन लोगों को मूर्ख कहने के लिए ही 1 अप्रैल को अप्रैल फूल डे यानी पागल दिवस कहा जाने लगा। और तभी से 1 अप्रैल के दिन लोग एक दूसरे को बेवकूफ बनाते हैं।

इसीलिए लोगों ने 1 अप्रैल को पागल दिवस मनाना शुरू कर दिया।


विभिन्न शहरों में पागल दिवस मनाने का तरीका

दुनिया के अलग-अलग देशों में अलग-अलग तरीके से अप्रैल फूल डे मनाया जाता है। जैसे :-

  • फ्रांस में अप्रैल फूल डे को पाइजन डी एविल कहा जाता है जिसका मतलब अप्रैल फिश होता है। इस दिन बच्चे स्कूल में एक दूसरे की पीठ पर पेपर या किसी अन्य चीज से बनी हुई मछली चिपका देते हैं।
  • ब्राजील में अप्रैल फूल को लेकर या मान्यता है कि इस दिन जो भी व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को अप्रैल फूल बनाने में सफल रहता है उसका पूरा साल बहुत अच्छा गुजरता है।
  • ब्राजील में अप्रैल फूल डे के दिन लोग एक दूसरे को बिना कोई नुकसान पहुंचाए मूर्ख बनाते हैं। जिसे वे ओ दिया दास मैन टायर कहते हैं।
  • आयरलैंड और यूके में लोग अप्रैल फूल डे केवल सुबह से दोपहर तक ही मनाते हैं। अगर उसके बाद भी कोई लोगों को अप्रैल फूल बनाता है तो उसे ही बेवकूफ समझा जाता है।

FAQ’S :- 

Q1 .पागल दिवस 2023 कब है ?

Ans- 2023 में पागल दिवस 1 अप्रैल को ही मनाया जाएगा।

Q2. 2 अप्रैल को कौन सा डे मनाया जाता है ?

Ans- अक्सर लोग समझते हैं कि 2 अप्रैल को कोई भी दिवस नहीं मनाया जाता है, लेकिन भारत में 2 अप्रैल को विश्व ऑटिज्म 
जागरूकता दिवस मनाया जाता है।

Q3. 1 अप्रैल को हिंदी में क्या कहते हैं?

Ans- 1 अप्रैल को लोग मूर्ख दिवस मनाते हैं। इसीलिए 1 अप्रैल को हिंदी में मूर्ख दिवस या पागल दिवस कहा जाता है।

Q4. मूर्ख दिवस कब रहता है ?

Ans- पूरी दुनिया में लोग 1 अप्रैल को मुर्गा दिवस के रूप में मनाते हैं।

निष्कर्ष :-

आज के इस लेख में हमने जाना, कि Pagal Divas Kab Manaya Jata Hai ?

उम्मीद है, कि इस लेख के माध्यम से आपको पागल दिवस से संबंधित कई जानकारियां मिल पायी होंगी। यदि आप पागल दिवस से संबंधित कोई अन्य रोचक तथ्य जानते हैं, तो हमें कमेंट में जरूर बताएं।


Read Also :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *