May 24, 2024
OPD Full Form In Hindi

OPD की फुलफॉर्म क्या होती है ? – OPD Full Form In Hindi

OPD full form in Hindi :- OPDएक ऐसा शब्द है, जिसे आप सभी लोगों ने हॉस्पिटलों में जरूर देखा होगा।

ओपीडी हॉस्पिटल का एक प्रमुख विभाग होता है, जहां पर बैठ कर के यह डिसाइड किया जाता है, कि आने वाले मरीज को कहां पर शिफ्ट किया जाएगा या फिर उस व्यक्ति को हॉस्पिटल में एडमिट करना है या फिर दवा देकर या फिर कंसल्ट करके घर भेज देना है।

क्या आप सभी लोग जानते हैं, ओपीडी का हिंदी में मतलब क्या होता है ? यदि नहीं तो कोई बात नहीं आज के इस लेख में हम सभी लोग इसी विषय पर बात करेंगे और जानेंगे OPD meaning in Hindi के विषय में पूरी जानकारी।

आज के इस लेख में हम आप सभी लोगों के साथ ओपीडी से संबंधित सारी जानकारियां शेयर करने वाले हैं और इसके साथ-साथ आपको ओपीडी मीनिंग इन हिंदी के विषय में भी पूरी जानकारी।

ओपीडी विभाग हॉस्पिटल में इंटर करते हैं, सबसे पहले आपको दिख जाएगी और वहां पर आपको अपॉइंटमेंट लेना होगा, इसके बाद ही आप डॉक्टर से मिल सकते हैं। आज के इस लेख में हम आपको पूरी जानकारी बताने वाले हैं तो चलिए बिना देर किए शुरू करते हैं अपना यह लेख और जानते हैं विस्तार पूर्वक से जानकारी।


ओपीडी फुल फॉर्म इन हिंदी- ( OPD full form in Hindi )

OPD का फुल फॉर्म आउट पेशेंट डिपार्टमेंट होता है, अर्थात इसका मतलब जिन पेशेंट को सिर्फ डॉक्टर से कंसल्ट करनी होती है या फिर नॉर्मल से बुखार खांसी या फिर डिजीज के कारण दवा लेनी होती है, तो वह उस व्यक्ति का ट्रीटमेंट ओपीडी के तहत किया जाता है।


ओपीडी मीनिंग इन हिंदी

दोस्तों जब भी आप हॉस्पिटल में इंटर करते हैं या फिर किसी भी मरीज को लेकर के हॉस्पिटल में जाते हैं, तो आपको सबसे पहले बाहर डॉक्टर से मिलने के लिए अपॉइंटमेंट करवाना पड़ता है, इसके बाद ही आप डॉक्टर से मिल सकते हैं। अपॉइंटमेंट लेते समय आपको हमेशा ओपीडी स्लिप/ OPD sector में भेजा जाता है।

एक हॉस्पिटल में जितने भी डॉक्टर होते हैं, वह सभी के सभी ओपीडी और आईपीडी के तहत आते हैं, जोकि मरीजों के इलाज में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। OPD / IPD डिपार्टमेंट डिसाइड करता है, कि आपको किस वार्ड में शिफ्ट करना है।

ओपीडी डिपार्टमेंट एक ऐसा डिपार्टमेंट है, जहां पर यह तय किया जाता है, कि आपको किस वार्ड में शिफ्ट करना है और यह इस बात पर निर्भर रहता है, कि आपको क्या तकलीफ है, यदि आपको नॉर्मल सा बुखार या फिर कोई नॉर्मल सी डिजीज है, तो आपको ओपीडी के तहत ट्रीट किया जाएगा।


हॉस्पिटल में ओपीडी डिपार्टमेंट कहां होता है ?

ऊपर हमने OPD Full Form In Hindi के बारे में जाना, अब हम हॉस्पिटल में ओपीडी डिपार्टमेंट कहां होता है ? के बारे में जानते है।

एक हॉस्पिटल में आप सभी लोगों को ओपीडी डिपार्टमेंट हमेशा ग्राउंड फ्लोर पर मिलेगा और सबसे पहले मिलेगा ऐसा इसलिए डिजाइन किया जाता है ताकि मरीजों को जल्द से जल्द देखा जा सके और उन्हें कंसल्टेशन के बाद तुरंत ही उनके ट्रीटमेंट रूम तक पहुंचाया जा सके।

हॉस्पिटल में तो सब जाते हैं बूढ़े, बच्चे, नौजवान इत्यादि तो यदि हॉस्पिटल में बूढ़े जाते हैं तो उन्हें सबसे पहले कंसंट्रेशन रूम में जाना होता है और डॉक्टर से मिलने के अपॉइंटमेंट लेना होता है, तो यदि ओपीडी रूम या फिर ओपीडी डिपार्टमेंट ग्राउंड फ्लोर पर न होकर किसी और फ्लोर पर होगा, तो उन्हें समस्या हो सकती है अतः इसी के कारण से ओपीडी डिपार्टमेंट हमेशा ग्राउंड फ्लोर पर होता है।

कई बार आप प्राइवेट हॉस्पिटल्स में भी गए होंगे, तो आपने देखा होगा, कि डॉक्टर से पहले पेशेंट की कंडीशन देखते हैं और उसके बाद पेशेंट को या फिर आईपीडी के तहत हॉस्पिटल में शिफ्ट करते हैं या फिर  नॉरमल कंडीशन होती है, तो उसे दवाएं दे कर के घर जाने के लिए कह देते हैं।


ओपीडी डिपार्टमेंट क्या है ?

ऊपर हमने OPD Full Form In Hindi के बारे में जाना, अब हम ओपीडी डिपार्टमेंट क्या है ? के बारे में जानते है।

ओपीडी डिपार्टमेंट एक ऐसा डिपार्टमेंट होता है, जहां पर किसी भी रोगी को चिकित्सकीय परामर्श और अन्य सेवाओं को प्रदान करने से पहले उस का चेकअप किया जाता है और जिस भी प्रकार की बीमारी होती है, उसे उस तरह के सेक्टर में शिफ्ट कराया जाता है।


आईपीडी डिपार्टमेंट क्या है ?

आईपीडी डिपार्टमेंट एक ऐसा डिपार्टमेंट होता है, जहां पर किसी भी मरीज को हॉस्पिटल में 24 घंटे से ज्यादा समय के लिए एडमिट किया जाता है। यदि किसी भी मरीज को 24 घंटे के लिए एडमिट किया जाता है, तो आप समझ जाइए कि उस व्यक्ति को आईपीडी के अंडर में शिफ्ट किया गया है।


आईपीडी फुल फॉर्म – OPD Full Form In Hindi

IPD का फुल फॉर्म internal patient department होता है जिसका अर्थ यह होता है कि यह कैसा डिपार्टमेंट होता है जहां पर मरीजों का इलाज किया जाता है अतः कई बार आप लोगों ने हॉस्पिटल में आईपीडी स्लिप का नाम सुना भी होगा इसका अर्थ यह होता है कि स्लिप पर डॉक्टर वही दवाइयां लिखता है, जो कि उसके अस्पताल में उपस्थित रहती है।


ओपीडी का महत्व

ओपीडी के कुछ महत्व के बारे में हमने जानकारी दी है जिसे पढ़कर आप ओपीडी के महत्व के बारे में समझ जाएंगे और वह जानकारियां निम्नलिखित हैं :-

  • यदि आप किसी भी अस्पताल में किसी भी मरीज को लेकर जाएंगे तो वहां पर उसके ट्रीटमेंट करने से पहले उसकी कागजी कार्यवाही की जाती है जो कि इसी डिपार्टमेंट में की जाती है।
  • आप किसी भी अस्पताल में जब भी इलाज करवाने के लिए जाएंगे वहां पर आप के इलाज की एक सीमा होती है, जिस का निर्धारण अस्पताल स्वयं ही करता है तथा वह इसके विषय में ओपीडी डिपार्टमेंट को सूचना देते हैं तथा ओपीडी डिपार्टमेंट के कर्मचारी यह देखते हैं कि उनके द्वारा पूरी फीस दी गई है या फिर नहीं, वह इस चीज की सूची रखते हैं।
  • जब भी कोई मरीज गंभीर हालत में होता है और उसे अस्पताल में ले आ जाता है तो ओपीडी डिपार्टमेंट इस चीज का निर्णय देता है कि उस मरीज को अस्पताल में भर्ती करना है या फिर ऐसा करता है इसका निर्धारण वह मरीज के हालत पर करते हैं।

ओपीडी एवं आईपीडी में अंतर

ऊपर हमने OPD Full Form In Hindi के बारे में जाना, अब हम ओपीडी एवं आईपीडी में अंतर के बारे में जानते है। ओपीडी एवं आईपीडी में कुछ मुख्य अंतर तो नहीं है परंतु कुछ अंतरों के बारे में नीचे हमने जानकारी प्रदान कराई है :-

  • एपीडीए डिपार्टमेंट है जहां पर यह निर्णय लिया जाता है कि रोगी को अस्पताल में भर्ती करना है या फिर उसे आगे रेफर करना है परंतु वही आईपीएल डिपार्टमेंट में केवल ऐसे मरीजों को भर्ती के आता है जिनकी हालत गंभीर होती है अर्थात वे बहुत ही सीरियस होते हैं।
  • जैसा कि हमने आपको बताया ऊपर से डिपार्टमेंट में केवल निर्णय या फिर परामर्श लिया जाता है, तो ऐसे मरीज जीने भर्ती होने की जरूरत नहीं होती है परंतु उनका इलाज होना आवश्यक होता है तो उन्हें ऊपर के डिपार्टमेंट में शिफ्ट किया जाता है, वही वे मरीज इनकी हालत गंभीर होती है, उन्हें आईपीडी डिपार्टमेंट में शिफ्ट किया जाता है।

FAQ’S :- 

Q1. ओपीडी का क्या काम है ?

Ans :- यदि आप किसी भी अस्पताल में किसी भी मरीज को लेकर जाएंगे तो वहां पर उसके ट्रीटमेंट करने से पहले 
उसकी कागजी कार्यवाही की जाती है जो कि इसी डिपार्टमेंट में की जाती है।

Q2. ओपीडी और आईपीडी में क्या अंतर है ?

Ans :- एपीडीए डिपार्टमेंट है जहां पर यह निर्णय लिया जाता है कि रोगी को अस्पताल में भर्ती करना है या फिर 
उसे आगे रेफर करना है परंतु वही आईपीएल डिपार्टमेंट में केवल ऐसे मरीजों को भर्ती के आता है जिनकी हालत 
गंभीर होती है अर्थात वे बहुत ही सीरियस होते हैं।

Q3. ओपीडी का फुल फॉर्म क्या होता है ? – OPD Full Form In Hindi

Ans :- ओपीडी का फुल फॉर्म आउट पेशेंट डिपार्टमेंट होता है।

Q4. ओपीडी अटेंडेंट का मतलब क्या होता है ?

Ans :- ओपीडी अटेंडेंट का मतलब यह होता है, कि ओपीडी अटेंडेंट उस व्यक्ति को कहते हैं ,जो किसी भी वार्ड में काम करता है।

Q5. आईपीडी में मरीज को कितने समय तक रहना चाहिए ?

Ans :- जब किसी व्यक्ति को या किसी मरीज को इलाज करने वाला उसके डिस्चार्ज की सलाह देता है, तो उसके 
डिस्चार्ज की सलाह देने के पश्चात उसको डिस्चार्ज करने में कम से कम 3 घंटे का समय लगता है।

निष्कर्ष:- हम उम्मीद करते हैं की, हमारे द्वारा बताई गई ( OPD Full Form In Hindi ) यह जानकारी अवश्य आपके कारगर साबित हुई होगी।

यदि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख OPD Full Form In Hindi पसंद हो तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ अवश्य साझा करें और यदि आपके मन में इस लेख को लेकर कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स का प्रयोग करना ना भूलें।


Read Also :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *