April 17, 2024
Bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संस्थापक कौन थे ? – Bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the

Bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the :- भारत की राजनीति में कांग्रेस पार्टी की अहम भूमिका रही है यह दल पिछले कई वर्षो से सत्ता और विपक्ष के रूप में भारत की राजनीति में अपना योगदान दे रही है।

क्या आपको पता है, कि bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the अगर नहीं तो आपको हमारा यह लेख जरूर पढ़ना चाहिए। यहां आपको इस विषय के बारे में विस्तार से बताई जा रही है। तो आइये इस लेख को पढ़ना प्रारम्भ करते है।


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संस्थापक कौन थे ? – Bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the

भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की स्थापना 1885 के 28 दिसम्बर को बंबई (मुंबई) के गोकुल दास तेजपाल संस्कृत महाविद्यालय में 72 प्रतिनिधियों की उपस्थिति के साथ हुई थी। इसके संस्थापक महासचिव (जनरल सेक्रेटरी) ए ओ ह्यूम थे, जिन्होंने कलकत्ता के व्योमेश चन्द्र बनर्जी को अध्यक्ष नियुक्त किया था।

इसके आरंभिक दिनों में कांग्रेस का दृष्टिकोण एक कुलीन वर्ग की संस्था का था। इसके आरंभिक सदस्यों को मुख्य रूप से बॉम्बे और मद्रास प्रेसीडेंसी से चुना गया था। कांग्रेस में स्वराज का लक्ष्य सबसे पहले बाल गंगाधर तिलक ने अपनाया था।

अब आपको ज्ञात हो गया होगा कि bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the अब जानेंगे कि आखिर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल किस प्रकार संगठित किया गया।


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल का इतिहास  

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल की स्थापना 1885 में हुई थी और यह एक प्रभावशाली राष्ट्रीय नेतृत्व की गठना थी। यह दल भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन की नींव रखने के लिए गठित किया गया था। दल की स्थापना 72 प्रतिनिधियों की मौजूदगी में हुई थी और इसके संस्थापक महासचिव ए ओ ह्यूम थे।

उन्होंने कलकत्ता के व्योमेश चंद्र बनर्जी को अध्यक्ष नियुक्त किया था। इस दल का दृष्टिकोण प्राथमिकता से एक कुलीन वर्ग के लिए बनाया गया था। इसके आरंभिक सदस्यों का अधिकांश बॉम्बे और मद्रास प्रेसीडेंसी से आया था। कांग्रेस में स्वराज की प्राथमिकता को सबसे पहले बाल गंगाधर तिलक ने अपनाया था।

bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the यह आपको पता ही चल गया होगा साथ ही साथ आपको यह भी ज्ञात हो गया होगा कि इस दल की रचना किस प्रकार की गयी आइये अब जाने कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को 2 भागों में किस प्रकार बांटा गया।


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के दो अहम् हिस्से

1907 में इस दल को 2 भागों में विभाजित किया गया ताकि पार्टी का विस्तार कर इसे समाज के विभिन्न मुद्दों पर हितकारी कार्य करने के अग्रसर किया जा सके। आइये इन दोनों दलों के बारे में  विस्तार से जानते है, इस जानकारी से आपको bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the और किस प्रकार इन्होनें से कांग्रेस की नीतियों को अलग अलग दलों में विभाजित कर आगे बढ़ाया आइये इसे विस्तार से जानते है।

नरम दलकांग्रेस के नरम दल सन 1907 में संगठित किया गया था। यह दल कांग्रेस की आधिकारिक महासचिवालय द्वारा संचालित होता है और एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो पार्टी के व्यापक संगठनात्मक विकास और संगठन में सहायता प्रदान करता है। इस दल के सदस्यों का मुख्य ध्येय नए सदस्यों को आकर्षित करना, उन्हें पार्टी में सम्मिलित करना और विभिन्न कार्यक्रमों, अभियानों और चुनावों में सक्रिय रूप से भाग लेना होता है।

आपको अब यह अवश्य ज्ञात हो गया होगा कि bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the और किस प्रकार कांग्रेस पार्टी एक हिस्से को नरम दल में विभाजित किया गया। आइये अब इस पार्टी के गर्म दल को भी  समझने का प्रयास करते है।

गरम दल –  यह दल अक्सर कांग्रेस के आदिवासी और आदिवासी क्षेत्रों में संगठित होता है और उन्हें सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों की उच्चाधिकारिता देने का लक्ष्य रखता है। इस दल के सदस्यों का मुख्य कार्यक्षेत्र आदिवासी समुदायों के विकास, समरसता, और आर्थिक उत्थान को सुनिश्चित करना होता है। गरम दल का उद्देश्य आदिवासी समुदायों के हितों की सुरक्षा करना, उनकी आवाज़ को सुनना और उनके अधिकारों की रक्षा करना होता है।

जैसा कि ऊपर दी गयी जानकारियों को पढ़ने के बाद अब समझ आ गया होगा कि bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the अब बात करेंगे कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्षों के नाम क्या है।


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्षों के नाम

व्योमेश चंद्र बनर्जी (1885-1886)

डब्ल्यू. सी. बनर्जी (1886-1887)

पैडमजी नरसी बनजी वाचा (1887)

डब्ल्यू. सी. बनर्जी (1888)

आइ. वी. चिंचोलीकर (1888-1890)

पैडमजी नरसी बनजी वाचा (1890)

आइ. वी. चिंचोलीकर (1891)

गोपाल कृष्ण घोखले (1891-1892)

व्योमेश चंद्र बनर्जी (1893)

आनंदमोहन बोस (1897-1905)

राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी (1905-1916)

बाल गंगाधर तिलक (1916-1920)

लाला लाजपत राय (1920)

चित्रान्जन दास (1920-1922)

बाल गंगाधर तिलक (1923)

मोतीलाल नेहरू (1929)

वल्लभ भाई पटेल (1931-1950)

राजेन्द्र प्रसाद (1950-1952)

पुरुषोत्तम दास तांडन (1952-1954)

जवाहरलाल नेहरू (1955-1964)

कामरा (1964)

नीलम संजीव रेड्डी (1964)

कामरा (1964-1967)

नीलम संजीव (1967)

गुलज़ारीलाल नंदा (1967-1969)

स्वर्ण सिंघ (1969-1971)

शंकर दयाल शर्मा (1971)

अच्युत पटेल (1971-1973)

कामरा (1973-1977)

शंकर दयाल शर्मा (1977-1978)

चौधरी चरण सिंह (1978-1984)

राजीव गांधी (1984-1989)

पी.वी. नरसिम्हा राव (1989-1991)

सोनिया गांधी (1998-2017)

राहुल गांधी (2017-2021)

सोनिया गांधी (2021- 2023 )

मल्लिकार्जुन खड़गे ( 2023 – वर्तमान तक)

ये कुछ प्रमुख अध्यक्ष हैं जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का नेतृत्व किया है। इसे पढ़ने के बाद आपको bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the यह समझ आ ही गया होगा, इसके अलावा आपको यह भी ज्ञात हुआ कि कांग्रेस के अध्यक्ष का पद संघर्ष, संगठनात्मक कार्य, नीति निर्माण और पार्टी के मार्गदर्शन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

उनका मुख्य उद्देश्य भारतीय राजनीति में अद्यतन और पार्टी की आवाज़ को लोगों तक पहुंचाना होता है। आइये अब जानते है कि भारतीय राष्टीय कांग्रेस की पहली महिला अध्यक्ष कौन थी।


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली महिला अध्यक्ष

एनी बेसेंट, जो 1917 में कलकत्ता में आयोजित भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली महिला अध्यक्ष बनीं, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान देने वाली महिला स्वतंत्रता सेनानी थीं।

वे महिला शिक्षा और महिला अधिकारों के पक्षधर थीं और महिलाओं के उद्धार और स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करती रहीं। एनी बेसेंट ने भारतीय महिलाओं को सशक्त बनाने और उनके हकों की मांग करने के लिए अभियान चलाया। उ

न्होंने महिला शिक्षा, विधवा विवाह बंधन, उत्पीड़न से बचाव, बालविवाह, और भारतीय महिलाओं की स्थिति में सुधार के लिए समाज में जागरूकता पैदा करने के लिए संघर्ष किया।

अब आपको अच्छी तरह पता चल गया होगा, कि bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the आइये इस विषय से सम्बंधित FAQ पढ़ते है।


FAQ’S: –

प्रश्न 1 – Bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the ?

उत्तर - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संस्थापक के रूप में ए ओ ह्यूम जी को जाना जाता है।

प्रश्न 2भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल की स्थापना कब हुई ?

उत्तर - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल की स्थापना 28 दिसम्बर, 1885 को मुंबई (बंबई) के गोकुल दास तेजपाल 
संस्कृत महाविद्यालय में हुई थी। इस सत्र में करीब 72 प्रतिनिधियों की उपस्थिति थी।

प्रश्न 3 – भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल के सबसे पहले अध्यक्ष का नाम बताइये ?

उत्तर - इस दल के सर्वप्रथम अध्यक्ष के रूप में व्योमेश चंद्र बनर्जी जी को चुना गया ।

प्रश्न 4भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल की पहली महिला अध्यक्ष किसे बनाया गया ?

उत्तर - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल की पहली महिला अध्यक्ष एनी बेसेंट को चुना गया ।

प्रश्न 5वर्तमान में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष कौन है ?

उत्तर -  वर्तमान में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष श्री मल्लिका अर्जुन खड़गे है।

निष्कर्ष :-

इस लेख के अंतर्गत आपको बताया गया, कि bhartiya rashtriya congress ke sansthapak kaun the साथ ही साथ आपको इस पार्टी की कई विशेष जानकारियों से रूबरू कराया गया।

हम उम्मीद करते है, यह लेख आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हुआ होगा यदि आप आगे  भी ऐसी ही जानकारियों से रूबरू हों चाहते है तो इस वेबसाइट को विजिट कर सकते है।


Also Read :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *